Taj Mahal Kisne Banwaya और Kab Banwaya Tha पूरी जानकारी

हेल्लो दोस्तों आज हम जानेंगे की Taj Mahal Kisne Banwaya Tha और Kab Banwaya Tha इस आर्टिकल में हम ताजमहल से जुडी सारी जानकारी प्राप्त करेंगे दुनिया का 7 अजूबो का नाम सुनते ही उनमे सामिल सबसे खुबसूरत इमारतों में एक भारत का मसहुर इमारत ताजमहल का तस्वीर हमारी आँखों पर उभर आता है इसे मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी बेगम मुमताज महल के याद में बनवाया था

Taj Mahal Kisne Banwaya

सायद इसी कारण पुरे संसार में प्रेमी जोड़ो के द्वारा प्यार के अद्भुत मिसाल के तौर पर देखा जाता है इस आर्टिकल में हम इस अद्भुत इमारत के बारे मेंभा 10 ऐसे आश्चर्य जनक तथ्यों के बारे में बताया है जिन्हें बहुत ही कम लोग जानते है चलिए जानते है की वो कौन-कौन सी बाते है तो चलिए आगे बढ़ते है

Taj Mahal Kisne Aur Kab Banwaya Tha In Hindi

चलिए जानते है की ताजमहल किसने बनवाया और क्यों बनवाया गया था :-

ताजमहल को शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज महल जिसकी मृतु 17 जून 1631 को हो गई थी उसकी कब्र के लिए बनाया था यह भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में यमुना नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थिर है जब उसकी पत्नी की मृतु हुई तब वो उसकी 14 वी संतान को जन्म दे रही थी जिसका नाम गौहर बेगम था ताजमहल का निर्माण 1632 में शुरू हुआ और इसका मकबरा 1643 में पूरा हुआ

जबकि आसपास की इमारतो और बगीचे को बनने में दस साल बाद तक पूरा किया गया था इसमें स्वय शाहजहाँ का मकबरा भी है साथ ही शाहजहाँ की अन्य पत्नियों और यहाँ तक की उसके पसंदीदा नौकर को भी ताजमहल के बाहर मकबरों में दफनाया गया है ताजमहल के परिसर में एक मस्जिद और एक गेस्ट हाउस भी है

Taj Mahal Kisne Banwaya

ताजमहल का निर्माण आर्किटेक्ट उस्ताद अहमद लाहौरी के मार्ग दर्शन से 20,000 से अधिक कारीगरों द्वारा बनाया गया था उस्ताद अहमद लाहौरी जो ताजमहल के मुख्य वास्तुकार थे वो भारत के नहीं थे बल्कि वह ईरान के फ़ार्सी थे इसके निर्माण समर्ग्री के परिवहन के लिए 1000 से अधिक हाथियों का उपयोग किया गया था ताजमहल को बनाने के लिए सामान कई जगह से मंगवाया गया था

जैसे :- सफ़ेद संगमरमर को मकराना राजस्थान से ,जैस्पर को पंजाब से ,जेड और क्रिस्टल को चीन से ,फिरोजा को तिब्बत से , लापीस लजूली को अफगानिस्तान से ,नीलम को श्रीलंका से और करेलियम को अरब से लाया गया था इसमें 28 प्रकार के कीमती और अर्द्ध कीमती पत्थरो को सफ़ेद संगमरमर में जड़ा हुआ था जिनको ब्रिटिश सैनिको ने 1857 में सिपाही विद्रोह के दौरान ताजमहल के दीवारों से निकाल लिया गया था

निर्माण स्थल पर संगमरमर और सामग्रीयों को ले जाने के लिए 15 किलोमीटर यानि (9.3 मील) की दुरी पर तैम्पेड-अर्थ बनाया गया था जो की बीस या तीस बैलो की टीमो ने विशेष रूप से निर्मित वैगनों पस्त ब्लाको को खीचता था ताजमहल के पूरा होने के बाद शाहजहाँ को 1658 में उसके बेटो औरन्जेब ने कैद कर लिया था

उसके बाद शाहजहाँ अपने अंतिम आठ वर्षो तक ताजमहल को अपनी खिड़की से देखते रहे थे दोस्तों अब तो आप जान गए होने की Taj Mahal Kisne Banwaya और Kab Banwaya Tha तो चलिए अब जानते है Taj Mahal Ke Bare Main 10 Line तो चलिए शुरू करते है

ताजमहल के बारे में 10 महत्वपूर्ण बाते

  1. क्या आप जानते है की ताजमहल क़ुतुब मीनार से भी लम्बा है जो क़ुतुब मीनार की लम्बाई है 72.5 मीटर है और जो ताजमहल की लम्बाई है 73 मीटर है जो क़ुतुब मीनार से ताजमहल लम्बा है
  2. ताजमहल के आस-पास के चार मीनारों का निर्माण मुख्य संरचना के सामान्य से अधिक दूर किया गया था मीनारे सीधे खड़े होने के वजाय थोडा बहार की और झुकी हुई है क्योकि अगर कभी भूकंप या किसी अन्य कारण से कोई मीनार गिरती है तो यह बाहर की तरफ गिरे ताकि मुख्य भाग को नुकसान न हो
  3. क्यों आप जानते है की आगरा ताजमहल के लिए वास्तविक स्थल नहीं था इससे पहले ताजमहल बुरहानपुर (मध्य प्रदेश) में बनाया जाने वाला था जहां मुमताज की मृत्यु बच्चे के जन्म के दौरान हुई थी लेकिन दुर्भाग्य से बुरहानपुर प्रयाप्त रूप से सफ़ेद संगमरमर की आपूर्ति नहीं हो सका इसलिए आगरा में ताजमहल के निर्माण के लिए अंतिम निर्णय लिया गया शाहजहाँ ने महाराजा जय सिंह को जमीन के बदले में आगरा के केंद्र में एक बड़ा महल भेट किया था
  4. ताजमहल को द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान A.S.I (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) द्वारा छुपाया गया था यह एक विशाल मचान के साथ कवर किया गया था जिससे यह बांस के भंडारण जैसा देखने में प्रतीत होता है बाद में एक बार फिर इसे 1971 में भारत और पाकिस्तान युद्ध के दौरान छुपाया गया था ऐसा एक लिया किया गया था ताकि दुसरे देश के वायु सेना इसे पहचान कर नस्ट न करदे
  5. 2008 में एक बंगलादेशी फिल्म निर्माता ने 56 मिलियन यानि (5 करोड़ 60 लाख) अमेरिकी डॉलर की लागत से ताजमहल की प्रतिकृति का निर्माण किया ताकि बंगलादेश में उनके गरीब देशवासी भारत की यात्रा किए बिना प्रसिद्ध स्मारक का आनंद ले सके प्रतिकृति को आधुनिक उपकरणों के साथ पूरा करने में पांच साल लग गए
  6. अपने कभी न कभी जरुर सुना होगा की शाहजहाँ ने ताजमहल निर्माण होने के बाद कलाकारों और वास्तुकारों के हाथ कट दिए थे ताकि वे कभी एस तरह के खुबसूरत करतब को न दोहरा सके ये महज एक मिध्य है और अभी तक इस बात का कोई बहुत नहीं मिला है
  7. शाहजहाँ ने ताजमहल के सामने मेहताब गार्डेन में काले रंग में दूसरा ताजमहल बनवाना चाहते थे जो दिखने में एकदम ताजमहल के जैसा हो काला ताजमहल शाहजहाँ अपने मक्बरेके लिए बनाना चाहता था हालांकि अभी तक एस बात का कोई वास्तविक साबुत नहीं मिला है
  8. कहा जाता है की ताजमहल का परिसर 1653 में लगभग 32 मिलियन यानि 3 करोड़ 20 लाख रूपए को लागत से पूरा हुआ था जो 2020 में लगभग 70 बिलयन डॉलर यानि 7 हजार करोड़ का होगा
  9. ताजमहल को 1983 में यूनेस्को विश्र्व धरोहर स्थल में शमिल किया गया था ताजमहल को देखने के लिए लगभग 7-8 मिलियन पर्यटक हर साल आते है भारतीय पर्यटकों के लिए ताजमहल प्रवेश टिकट 45 रूपए सार्क देशो के नागरिको के लिए 535 रूपए और विदेशी नागरिको के लिए 1050 रूपए और 15 वर्ष के कम उम्र के बच्चो के लिए कोई भी प्रवेश शुल्क नहीं लिया जाता है
  10. ताजमहल कई मायनो में एक अजूबा है इसका रंग आकाश की स्थिति के अनुसार बदलता रहता है यह सुबह में गुलाबी देखता है , दिन की धुप में सफ़ेद और रात में हल्का नीला दिखता है
  • दोस्तों ये थी ताजमहल से जुडी हुई कुछ जानकारिया उम्मीद है आपको पसंद आयो होगी

हमनें क्या पढ़ा –

इस आर्टिकल में हमने पढ़ा Taj Mahal Kisne Banwaya Tha और Kab Banwaya Tha इसके के बारे में बहुत से आसान शब्दों में बताया गया है ताकि आपको अच्छी तरह समझ में आ सके।

दोस्तो कैसा लगा ये पोस्ट Comment Box में जरूर बताएं ओर आपका कोई सवाल है तो Comment Box में पूछ सकते है।

अगर ये Post अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ Whatsapp, Instagram, Twitter, Telegram, Facebook पर जरुर Share करे।

इसे भी पढे –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here