close button

सरोगेसी क्या होता है (Surrogacy Meaning in Hindi) पूरी जानकारी

ननमस्कार दोस्तो आज के इस शानदार आर्टीकल में हम जानने वाले है कि सरोगेसी क्या होता है (surrogacy meaning in hindi) तथा क्या यह लीगल है क्या आपके कभी सोचा है कि कैसे करन जौहर ओर तुसार कपूर बिना शादी के पिता बन गये ओर कैसे शिल्पा साठी बिना प्रेग्नेंट हुए माँ बन गयी है

आप जानते ही होंगे कि ये पहले से ही एक बच्चे की माँ थी लेकिन आपकी जानकरी के लिए बता दे कि उन्होंने सरोगेसी के जड़िये दूसरे बच्चे को इस धरती पर जन्म दिया आपकी जानकरी केलिए बता दे कि शारुख खान का तीसरा बच्चा सरोगेसी के द्वारा हैं

Surrogacy Meaning in Hindi
सरोगेसी का मतलब क्या है

इस दुनिया मे जन्म दिया आपके दिमाग मे ये सवाल आता होगा कि आखिर ये सरोगेसी क्या है (surrogacy meaning in hindi) क्या यह भारत मे लीगल है जानेगें इसके बारे में सारी अनोखी बाते तो चलिये बिना देरी किये शुरू करते है

सरोगेसी क्या होता है

जानकरी के लिए बता दे कि सरोगेसी एक मेडिकल साइन्स का देंन है जिसमे स्त्री के ओवरी से अंडे को निकालकर पुरुष के स्पम के साथ परतलाईज किया जाता है

किसी दूसरे स्वस्थ स्त्री के गर्भ में वही बीज डाला जाता है जिसमे वो बच्चा पल सके कुछ महीनों बाद जब बच्चा जन्म देता है उसी को सरोगेसी कहा जाता है

सरोगेसी कैसे होता है (Surrogacy Meaning in Hindi)

अब जानते है कि सरोगेसी का मतलब अच्छी तरह से (surrogacy meaning in hindi) तो हम बात दे की सरोगेसी का मतलब किराये का गर्भ होता है यह एक मेडिकल प्रोसीजर है ये उन लोगो के लिए बनाया गया है

जो माता और पिता बनाना तो चाहते है लेकिन कुछ समस्यओं के कारण वो नही बन पाते है ये उसके लिए हैं इसमे होते ये है कि स्त्री के ओवरी से अंडे को निकाला जाता है और उनके पति स्पैम में साथ टेस्टट्यूब में पार्टीलाइज किया गया 

Surrogacy Meaning in Hindi

जब दोनों का आपस मे पार्टलियीज हुआ तो उसमे से जो बीज तैयार हुआ उसको किसी दूसरी स्वस्थ महिला के गर्भाशय में डाला गया तो उसके पेट मे इनका बच्चा पालने लगता है 

अब बात आती है जो पुरुष पैरेंट होते है वो कैसे सरोगेसी से पिता बनते है इसका सबसे बड़ा उदारहण करन जौहर ओर तुसार कपूर है जिसमे ये लोग अपना स्पम देते है अब बात आती है कि स्पम अकेले पार्टलियीज होगा नही ये आप भी जानते है कि इसके लिए महिला के अंडे की जरूरत होगी 

इस केस में जिस प्रकार स्पम डोनर होते है उसी प्रकार ऐग डोनर भी होती है फिर इन्होंने ने भी ऐसा ही किया किसी ऐग डोनर से ऐग उधर लेकर पार्टलियीज करा लिया इसके बाद उसमे असंल बीज तैयार होता है उसे स्वस्थ किस माता के गर्भाशय में डाल दिया गया 

बहुत लोग सोच रहे होंगे कि जैसे तुसार कपूर सिंगल पैरेंट है वैसे ही उनकी बहन एकता कपूर भी सिंगल पैरेंट है उन्होंने सरोगेसी कैसे अपनाया इसमें केस साफ था उन्होंने किसी अच्छे स्पम डॉनर से संपर्क किया उसको अपने अंडे के साथ पार्टलियीज करवाया और फिर उसे स्वस्थ माता के गर्भाशय में डाल दिया 

उसके बाद उस सेरोगेटेड माता से उसके बेटे को 9 महीने तक पाला ओर जन्म के बाद एकता कपूर को सौप दिया कानूनी ओर मेडिकल रूप से एकता कपूर ही उसकी आसली माँ है 

सरोगेसी कौन-कौन कर सकता है

तो हम आपकी जनकरी के लिए बता दे कानूनी तौर पर सभी लोग सरोगेसी नही करा सकते ये वही लोग कर सकते है जिस महिला के गर्भाशय में कोई दिक्कत हो यानी किसी बीमारी या कोई दूसरी डंडिसन में महिला के गर्भाशय में बीज नही बना सकता है 

तो इस स्थिति में सरोगेसी सजेस्ट की जाती है या किसी महिला को पहली प्रेग्नेंसी के बाद किसी कारण दुबारा माँ बनने में कोई जान का खतरा हो तो इस स्थिति में ये सब कराई जाती है इसका सबसे बड़ा उदारहण शिल्फा साठी है 

क्योकि उन्हें एक बीमारी थी इसमे अगर वे अपना दूसरा बच्चा जन्म देती तो उन्हें तकलीफ हो सकती थी इसी वजह से उन्होंने सरोगेसी का विकल्प चुना था

Surrogacy और IBF के बीच अन्तर क्या है

तो हम आपको बता दे कि सरोगेसी आईबीएफ से ही होती है हालांकि इसमें थोड़ा सा बदलाव होते है जिसमे माता और पिता से असली बीज तैयार किया जाता है उसे वापस माँ के गर्भाश्य में डाल दिया जाता है और ऐसा तब किया जाता है 

जब माँ का गर्भशय स्वस्थ बीज तैयार करना में असमर्थ रहता है जिसके कारण आईबीएफ में बीज डेट्यूब के जड़िये तैयार किया जाता है परंतु सरोगेसी में ऐसा नही होता है इस केस में एक सरोगेट माँ की जरूरत होती है 

जिसके शरीर मे बच्चा ग्रो हो सके अब तो समझ गए होंगे कि बच्चे को जन्म कोई भी दे लेकिन उसके वास्तव में माता-पिता वही होते है जिसके अंडे को स्पम में पार्टलियीज किया जाता है 

क्या सरोगेसी भारत में कानूनी रूप से लीगल है

हम आपको बता दे कि 2016 में सरोगेसी को पब्लिक के लिए लोकसभा में पास किया गया था जो भारत में रहने वाले कपल्स जो 5 वर्ष से शादीशुदा है उन्हें किसी मेडिकल कंडीसन से वजह से बच्चा होने में दिक्कत है 

तो इस स्थिति में सरोगेसी करा सकते है इसमें ये भी कहा गया है कि यह एक बिना पैसा दिया होना चाहिए यानी जो सेरोगेटेड माता है वे किसी भी तौर पर पैसा न ले लेकिन ऐसा होता है लोग पैसे तो देते ही है और ये भारी मात्रा में ये चीज व्यापार बन गई है 

जहाँ जरूरत मंद महिलाएं सेरोगेटेड माता का किरदार नाभाती है और पैसे वाले लोग उन्हें खरीदते भी है जो शर्म की बात है अब तो आप समझ गए होंगे कि आखिर सरोगेसी क्या होता है और सरोगेसी का मतलब क्या होता है (surrogacy meaning in hindi) अगर आपके मन के कोई सवाल हो तो नीचे कंमेंट में पूछ सकते है 

इसे भी पढ़ें –

Leave a Comment