close button

IIT Full Form in Hindi | आईआईटी क्या है व कैसे करें

नमस्कार दोस्तों आज के आर्टिकल में आपका स्वागत है आज आपको हम बताएंगे कि IIT Full Form क्या होता है, आईआईटी कोर्स कैसे करें इसे करने से क्या फायदे है आदि जानकारी जानने के लिए इस पोस्ट पर बने रहे आपने कभी न कभी IIT का जरूर सुना होगा लेकिन बहुत सारे लोगो के आईआईटी के पूरी जानकारी नही होती है लेकिन आज आपको इससे जुड़ी सही और पूरी जानकारी मिलेगी।

आईआईटी का परीक्षा हर साल होती है और ये परीक्षा स्नातक (Graduate) के लिए होती है हर साल इस परीक्षा में लगभग 12 से 15 लाख छात्र हिस्सा लेते है और इसमें केवल 10,000 छात्रों का ही चयन हो पता है ये भारत की कठिन परीक्षाओ में एक है लेकिन तयारी अच्छी तरह से की जाए तो कुछ भी मुश्किल नहीं है।

पुरे भारत में कुल 23 आईआईटी कॉलेज है और इन 23 कॉलेज में चयन तभी हो पता है जब हम Entrance Exam पास ले यहाँ से इंजीनियरिंग करके बहुत से लोग करोडो का पैकेज मिलते है आईआईटी कॉलेज द्वारा अच्छे-अच्छे इंजीनियर बनाये जाते है और वो देश विदेश में जाकर काफी पैसा कमाते है।

इस आटिकल में हम बात करने वाले है IIT क्या होता है, IIT Full Form क्या होता है, आईआईटी करने के लिए क्या करना चाहिए, आईआईटी करने से फायदे और आईआईटी करने में कितना खर्चा लगता है आदि बातो को आज के पोस्ट में जानेंगे।

IIT क्या होता है – What is IIT in Hindi

IIT Full Form in hindi

अगर कोई छात्र इंजीनियरिंग करना चाहता है तो उसका सपना होता है की वो अपनी इंजीनियरिंग की पढाई किस आईआईटी कॉलेज से ही करे यानि आप ऐसा कह सकते है की आईआईटी इंजीनियरिंग करने के लिए सबसे अच्छा संस्थान माना जाता है भारत देश में टोटल 23 आईआईटी कॉलेज है अगर आपको लगता है की आईआईटी करना बहुत कठीन होता है।

तो ये एक दम गलत बात है क्योकि जब 1000 छात्र कर सकते है तो आप क्यों नहीं कर सकते है आप भी कर सकते है ऐसा बिलकुल भी नहीं सोचना चाहिए की आईआईटी करना बहुत मुश्किल है अगर आप अच्छे से पढाई करे तो आप जरुर आईआईटी निकाल सकते है और किसी अच्छे कॉलेज से अपनी इंजीनियरिंग की पढाई कर सकोगे।

IIT Full Form in Hindi 

IIT का फुल फॉर्म “Indian Institute Technology” होता है इसको हम हिंदी में “भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान” भी कहा जाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि आईआईटी केवल भारत मे ही नही बल्कि पूरे विश्व मे शिक्षा के क्षेत्र में मशहूर और प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक है आईआईटी पूरी अच्छी करने के बाद कई सारे छात्र वैज्ञानिक, रिसर्चर, टेक्नोलॉजिस्ट और इंजीनियर बनते है।

इंडिया का सबसे पुराना IIT संस्थान खड़गपुर था जिसे सरकार ने 1951 में स्थापित किया था वर्तमान में भारत में कुल 23 IITs है जो देश के अलग-अलग राज्यों और हिस्सों में स्थित है इन संस्थानों में लाखों विद्यार्थी पढ़ाई करते है और अपना नाम देश भर मे रौशन करते है।

आईआईटी कैसे करें

अगर आपको आईआईटी करना है यानि इंजीनियरिंग करना है तो आपको किसी कॉलेज में दाखिला लेने से पहले आपको jee main निकलना होगा jee main में हर साल लगभग 2.5 लाख छात्र परीक्षा देते है जिसमे लगभग टॉप 1 लाख छात्र को ही एडमिशन लेने की अनुमति दी जाती है।

आईआईटी कॉलेज के लिए अलग अलग ब्रांचेज होते हैं जैसे की, सिविल इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग ब्रांच आदि जो छात्र अच्छे अंक लाते है उसके आगे की Btech जैसी बड़ी पढ़ाई करते है और सॉफ्टवेयर इंजीनियर, इलेक्टिकल इंजीनियर बनते है और जो लोग कम रैंक लाते है मैकेनिकल, सिविल जैसी पढ़ाई पढ़ाई करते है ।

आईआईटी के बारे में और अच्छी तरह से जानने से पहले आइये जान लेते है कि Jee mains क्या होता है।

Jee mains क्या है

यह एक तरह का Entrance Exam होता है जो लोग IIT करना चाहते है उसके इस परीक्षा के गुजरना पड़ता है JEE का फुल फॉर्म Joint Entrance Exam होता है यह एक राष्ट्रीय लेवल के परीक्षा होता है जो लोग NIT, IIT और CFTI जैसे कोर्स के अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए इस परीक्षा को देना अनिवार्य है।

आपको बता दे कि NTA द्वारा इस एग्जाम को साल में चार बार आयोजित किया जाता है जिसमे, फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई माह सामिल है यह परीक्षा कंप्यूटर के आधारित होता है इस परीक्षा में 13 भाषाओं में आयोजित की जाती है जिसमे, अंग्रेजी, हिंदी, असामी, बंगाली, गुजराती, कनाडा, मराठी, मलयालम, उड़ीसा, पंजाबी, तमिल, तेलगू और उर्दू सामिल है।

आपको एक बात ध्यान रखना हॉग की Jee mains एग्जाम पास करने से आपका एड्मिसन IIT में नही होगा इसके लिए आपको एक और एग्जाम jee advance exam निकालना होगा Jee mains में दो पेपर के परीक्षा होते है जिसमे पहला B.tech में एडमिशन के लिए और दूसरा B.Arch एडमिशन के लिए होता है।

भारत के कुछ ऐसे राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेज है जिसमे दाखिल लेने से पहले JEE Main एग्जाम का पास करना जरूरी होता है हालाँकि यह state authorities से कन्फर्म करता है अधिक जानकारी के लिए jee main की ऑफिसियल वेबसाइट jeemain.nta.nic.in देख सकते है।

Jee advanced क्या है

यह उन छात्रों के लिए एग्जाम है जो IIT में एडमिशन लेना चाहते है अच्छे कॉलेज में IIT में एडमिशन से पहले दो परीक्षा देने होता है जिमसें पहला Jee Main उसके बाद दूसरा Jee advanced होता है ये दोनों एग्जाम आईआईटी करने के लिए देना जरूरी होता है।

प्रत्येक वर्ष सात IITs कॉलेज जिनमें आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी कानपुर, आईआईटी मद्रास, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी गुवाहाटी और भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) बैंगलोर शामिल है इसमे सभी कॉलेज का परीक्षा Joint Admission Board (JAB) की निगरानी में संपन्न होती है jee advanced के बारे और जानकारी लेने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट jeeadv.ac.in पर जा सकते है।

IIT का तैयारी कैसे करें

अगर आप IIT में एडमिशन लेना चाहते है तो आपको शुरुआत से ही एक गोल लेकर चलना जोग जिसमे आपको कक्षा 11th और 12th में विषय विज्ञानं (Science) से पढाई करनी पड़ेगी और Science में आपको Physics, Chemistry और Math इन तोनो विषय लेना अनिवार्य है तभी आप आईआईटी का परीक्षा दे सकते हो।

अगर आपके कक्षा 11वी और 12वी में ये तीनो विषय है तो आप आईआईटी का परीक्षा दे सकते है आप 12th पास होने के बाद भी इसका परीक्षा दे सकते है या अगर app 12th कक्षा में पढ़ रहे हो तो भी आप आईआईटी का परीक्षा दे सकते हो अगर आप आईआईटी का परीक्षा दिया और अपना चुनाव हो गया तो आप किसी आईआईटी कॉलेज से 4 साल अपनी इंजीनियरिंग की पढाई कर सकोगे।

अगर अपने में टैलेंट है और अगर आप आईआईटी से इंजीनियरिंग करना चाहते है तो आपको सबसे जुरुरी बात पहले आपको पढाई पर धयान देना चाहिए क्योकि एक बार दाखिला होने के बाद पैसे कोई चिंता नहीं रहेगी क्योकि अगर अपने आईआईटी कर लिया तो आपको बहुत प्रकार के सुविधा मिल जाएगी।

अगर अभी तक आप इस पोस्ट को पढ़ रहे है तो एक जरुरी बात सबसे पहले जो आपके पास NCRT का किताब है उसे आप अच्छी तरह से पढ़ ले उस किताब को पढने के बाद ही आपको कोई दूसरा बुक पढना चाहिए।

IIT Subject

आम तौर पर आईआईटी परीक्षा में तीन विषय से सवाल पूछे जाते है जो निम्नलिखित है।

  1. भौतिक विज्ञान (Physics)
  2. रसायन विज्ञान (Chemistry)
  3. गणित (math)

आपको इन तीन विषय की अच्छी तरह पढ़ाई करनी होती है अगर आप तीनो विषयो को अच्छी तरह से पढ़ाई कर लेते है तभी आप आईआईटी जैसे exam को निकाल पाएंगे।

IIT करने से फायदे

मैंने पहले ही बताया है की आईआईटी इंजीनियरिंग करने के सबसे अच्छा संस्थान माना जाता है अगर आप अपनी इंजीनियरिंग की पढाई किसी आईआईटी कॉलेज से कर लेते हो तो अपनी जीवन पूरी तरह से सेटल हो जाएगी जब आपकी इंजीनियरिंग पूरा हो जाएगी तो आपको बहुत बड़ी कम्पनी में नौकरी मिल सकती है।

आपकी सैलरी लाखो रूपए हो सकती है अगर आप चाहे तो अपने देश से बाहर विदेश में भी नौकरी कर सकते है आपको एक और बात जानना बहुत जरुरी है जो Google के कंपनी जो बहुत बड़ी कम्पनी है जिसके वो C.E.O  है जिनका नाम सुंदर पिचाई है वो अपनी पढाई आईआईटी कॉलेज से इंजीनियरिंग की है वो हर महीने करोड़ो रूपए कमाते है।

IIT करने में फीस कितनी लगती है

जैसे की मैंने पहले ही बताया है की देश भर में 23 आईआईटी कॉलेज है जो इनकी फ़ीस है वो 90 हजार से लेकर 1.20 लाख तक हो सकती है ये निर्भर करता है की आप कौन से आईआईटी में दाखिला लेते है ये फ़ीस साल में 1 ही बार देना होगा और ये कोर्स चार साल का है तो आप समझ सकते है की 4 साल में  लगभग 6 लाख के करीब फ़ीस लग सकती है।

इस कोर्स को करने के लिए आपको बता दे यहाँ पर एक बहुत अच्छी बात है की इसमें आपको फ़ीस में बहुत छुट मिल सकती है वो निर्भर करता है की आपकी इनकम कितनी है और आप किस कास्ट के है ये भी बहुत मदद कर सकता है आप किसी भी कास्ट को हो जरुरी है आपकी Annual Income कितनी है इसलिए आपको परेशान होने के जरुरत नहीं है की आप फ़ीस कैसे देंगे।

भारत मे कुल कितने आईआईटी कॉलेज है

अगर आपसे कोई पूछे कि भारत मे कितने IIT कॉलेज है तो आपको जवाब देना चाहिए कि भारत मे कुल 23 IIT कॉलेज है जिसका नाम नीचे दिया गया है।

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, इंदौर
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, वाराणसी
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, तिरुपति
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, धनबाद
  6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रोपड़
  7. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, भिलाई
  8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गोवा
  9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मंडी
  10. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जम्मू
  11. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पलक्कड़
  12. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, धारवाड़
  13. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
  14. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई
  15. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  16. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, कानपुर
  17. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मद्रास
  18. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  19. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
  20. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर
  21. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गांधीनगर
  22. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जोधपुर
  23. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पटना

IIT और ITI में क्या अंतर है

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि 1951 में IIT का सबसे पहला संस्थान भारत मे खड़कपुर में स्थापित किया गया है लेकिन समय के अनुसार देश मे आईआईटी संस्थानों की संख्या बढ़ती चली गयी वही वर्तमान में 23 IIT संस्थान पूरे भारत मे है जहां से प्रत्येक वर्ष लाखों छात्र सफल होकर रोजगार की तरफ बढ़ते है।

वही दूसरी तरफ देश मे रोजगार बढ़ाने के लिए ITI की स्थापना की गई ताकि गरीब छात्र भी आसानी से पढ़ पाए और एक अच्छे रोजगार की योग कदम बढ़ा सकें आइये IIT और ITI दोनों में अंतर क्या है इसके बारे में समझते है।

  • IIT का फुल फॉर्म Indian Institute Technology होता है वही ITI का फुल फॉर्म Industrial Training Institute होता है।
  • IIT का हिंदी मतलब भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान होता है वही दूसरी ओर ITI का हिंदी मतलब औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान होता है।
  • ITI में एडमिशन लेने के लिए आपको 10वी या 12वी पास होना जरूरी है वही IIT में 10वी और 12वी अच्छे अंक से पास होने के बाद कई सारी Entrance exam देने होते है तब जाकर कही IIT में एडमिशन मिल पाता है।
  • IIT करने वाले छात्र Beach करते है वही ITI करने वाले छात्र डिप्लोमा करते है।
  • ITI कोर्स 2 वर्ष में पूरा होता है वही IIT कोर्स में 4 से 5 साल लग सकता है।
  • ITI गरीब छात्र भी कर सकते है इसे करने में कब फीस लगती है वही IIT करने में लाखों रुपये लग सकते है।
  • इन दोनों कार्स में नौकरी मिलने के पूरी संभवना होती है लेकिन IIT करने वाले छात्र को कंपनियां अधिकांस नौकरी देना पसंद करती है।
  • दोनों कोर्स को करने वाली संस्था में काफी फर्क होता है IIT करने के लिए भारत मे कुल 23 IIT संस्थान है वही ITI के अनेकों संस्थान है आपको हर जिले में ITI का संस्थान देखने को मिल जाएगा।
  • अगर आपके पास अच्छा खासा पैसा है तो आपको IIT की तरफ जाना चाहिए क्योंकि यह अच्छा भविष्य प्रदान करता है वही अगर ज्यादा पैसे अफोर्ड नही कर सकते है ITI की तरफ जाना चाहिए इसमे भी सरकारी, प्राइवेट वेवसाय कर सकते है।

इसके अतिरिक्त और भी IIT और ITI में अंतर हो सकते है अगर आप अभी 10वी में पढ़ाई कर रहे है तो आपको पहले 12वी में अच्छे अंक लाने का प्रयास करना चाहिए उसके बाद आप अपनी बजट के अनुसार आपको कौन सी डिग्री करनी चाहिए चुन सकते है।

अब तो आप समझ गए होंगे कि IIT Full Form क्या होता है, आईआईटी कोर्स कैसे करें इसके बारें में काफी अच्छी तरह से बताया गया है ताकि आप अच्छी तरह से समझ सकें।

उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे Whatsapp, Instagram, Twitter, Telegram, Facebook पर जरुर Share करे।

Related Posts :-

2 thoughts on “IIT Full Form in Hindi | आईआईटी क्या है व कैसे करें”

Leave a Comment