close button

DGP Full Form Hindi | डीजीपी ऑफिसर कैसे बनें?

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि DGP क्या होता है, डीजीपी ऑफिसर कैसे बनें और डीजीपी का फुल फॉर्म क्या होता है (DGP Full Form in Hindi) काफी सारे लोगो को डीजीपी के बारे में पूरी पता नही होती है जिसके कारण कई बार सरकारी परिक्षओ में लिख नही पाते है लेकिन आज इस पोस्ट को इसलिए लाया गया ताकि आपको डीजीपी के बारे में पूरी जानकारी मिल सकें।

डीजीपी ऑफिसर अपने क्षेत्र में पूरा अधिकार होता है की अपने क्षेत्र का प्रशासनिक व्यवस्था सही ढंग से रखें आपको बता दे कि डीजीपी का मतलब महानिदेशक होता है यह पद पुलिस प्रशासन का सबसे पद होता है इसके बाद पुलिस अधिकारी में कोई बड़ा पद नही होता है डीजीपी का पावर राज्य के सभी पुलिस अधिकारी से अधिक होता है।

आजकल बहुत सारे लोग सरकारी नौकरी के तलाश में काफी लगन से मेहनत करते है ताकि एक अच्छा पुलिस अधिकारी बन सकें काफी सारे लोग पुलिस ऑफिसर में डीजीपी बनना चाहते है उससे पहले डीजीपी के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत आवश्यक है जैसे DGP क्या होता है, DGP Full Form क्या होता है व डीजीपी ऑफिसर कैसे बनें आदि।

अगर आप भी पुलिस अधिकारी में जाना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ना पड़ेगा तभी अच्छे से डीजीपी के बारे में समझ पाएंगे 

डीजीपी क्या होता है? DGP in Hindi

DGP Full Form in Hindi

डीजीपी का पद पुलिस अधिकारी का सबसे बड़ा पद होता है यह को प्राप्त करने के लिए IAS किया हुआ व्यक्ति ही कर सकता है इसलिए यह पद पुलिस विभाग के लिए सम्मान योग्य पद है एक डीजीपी पद को अपने क्षेत्र को सही ढंग रखने का पूरा अधिकार होता है उसके अलावा अपने राज्य के कानून व्यवस्था के संबंधित फैसले लेने का पूरा अधिकार होता है।

किसी भी राज्य में 1 या 4 पद ही नियुक्त होते है डीजीपी का पद वही व्यक्ति पा सकता है जो IAS के परीक्षा में पास हुआ हो राज्य के सभी डीजीपी अधिकारी IAS पद के अधिकारी होते है डीजीपी के बाद पुलिस प्रशासन में कोई बड़ा पद नही होता है।

DGP Full Form क्या होता है?

डीजीपी का फुल फॉर्म DIRECTOR GENERAL OF POLICE होता है जिसका हिंदी मतलब महानिदेशक होता है यह पद सभी पुलिस अधिकारी का हेड होता है इसके अंतर्गत ही सभी पुलिस अधिकारी कार्य करते है डीजीपी का पद IPS पद के अधिकरी होता है।

D: DIRECTOR

G: GENERAL

P: POLICE

डीजीपी का अन्य फुल फॉर्म 

पुलिस प्रशासन में डीजीपी का फुल फॉर्म “DIRECTOR GENERAL OF POLICE” होता है इसके अलावा डीजीपी का अन्य क्षेत्र में भी DGP Full Form का फुल फॉर्म जानना जरूरी है जैसे, Medical, Electrical, Politics, Technology, Business आदि फुल फॉर्म नीचे दिया गया है।

CategoryFull Form
PoliticsDemokratik Gelişim Partisi or Democratic Progress Party
ComputerDirectory Group Policy
TechnologyDifferential Global Positioning System
BusinessDigest Group Publications
AirportDaugavpils International Airport
ElectronicData Gathering Panel
SoftwareData Group
Dynamic Graphics Project
Development Guide Plan
PoliceDirector General of Police

डीजीपी ऑफिसर कैसे बनें? 

भारत मे बहुत सारी ऐसे सरकारी नॉकरी है जो 10th, 10+2 या ग्रेजुएशन करने के बाद नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते है अगर आप भी यही सोच रहें है कि डीजीपी ऑफिसर बनाने के लिए आपको यही तक पढ़ाई करके अप्लाई कर सकते है तो यह सही नही है।

इसके अलावा आपको बहुत सारे मेहनत और आगे की पढ़ाई करनी पड़ती है जो इतना सरल नही होता है अगर आपके अंदर लगन और अपने आप पर विस्वास है तो आप डीजीपी ऑफिसर बन सकते है डीजीपी ऑफिसर बनने के लिए कुछ प्रक्रिया है जो नीचे दिया गया है आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

1. डीजीपी बनने के लिए आपको IAS के परीक्षा में पास होना पड़ेगा।

2. IAS के परीक्षा पास होने में बाद आपको उपपुलिस अधीक्षक (DSP) बनाया जाता है

3. फिर आपको अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ASP) नियुक्त किया जाता है।

4. इसके बाद पुलिस अधीक्षक (SP) पद पर कार्य करना होता है।

5. फिर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) बनाया जाता है।

6. उसके बाद महानिरीक्षक (DIGP) पद पर कार्य करना होता है।

7. फिर पुलिस महानिरीक्षक (IGP) बनाया जाता है।

8. अतिरिक्त महानिदेशक (ADGP) पद पर कार्य करना होता है।

9. इसके बाद अंत में पुलिस महानिदेशक (DGP) का कार्य भर दिया जाता है जो पुलिस का सबसे अंतिम पद होता है।

डीजीपी बनने के योग्यता

जैसे कि हम जानते है कि किसी भी प्रकार के सरकारी नौकरी पाने के लिए कुछ न कुछ योग्यता की जरूरत पड़ती है उसी प्रकार डीजीपी बनने के लिए आपके पास उसकी योग्यता होनी चाहिए उसके बाद ही आप आगे कदम रख सकते है डीजीपी बनने के लिए कौन कौन सी योग्यता होनी चाहिए नीचे बताया गया है।

1. आवेदन देने से पहले आप एक भारतीय नागरिक होने जरूरी है।

2. सबसे पहले आपको Graduation या Post Graduation में पास होना अनिवार्य है।

3. आपका उम्र 21 वर्ष से 30 वर्ष होना अनिवार्य है।

अगर ऊपर बताया बताया गया योग्यता आपमे है तो आप आने वाले civilian service भर्ती में आवेदन दे सकते है उसके बाद परीक्षा मे अच्छा रैंक लाकर नौकरी पा सकते है फिर IAS बनकर प्रोमोशन पाप्त करके DGP बन सकते है।

डीजीपी बनने के आयु सीमा

डीजीपी बनने के लिए आपका उम्र लगभग 21 साल से लेकर 30 साल तक होना अनिवार्य है आरक्षित जाती जैसे, AC/ST/OBC वर्ग को नियमानुसार कुछ छूट प्रदान की जाती है 

डीजीपी बनने के लिए शारिरिक योग्यता

डीजीपी जॉइन के लिए शारिरिक योग्यता पूरी होनी चाहिए जिसमें आपका वजन न्युनतम 60kg व पुरुष के लंबाई 165cm और महिलाओं की लंबाई 150cm होना चाहिए इसके अलावा आपका दिमाग तेज होना चाहिए जिससे आप एक उचित फैसला ले सकें।

डीजीपी का सैलरी कितना होता है?

आपको पता ही होगा कि पुलिस प्रशासन की नौकरी पोस्ट के आधार पर होती है और जैसे कि आपको पहले हो बताया गया है डीजीपी पूरे राज्य पुलिस प्रशासन के हेड होता है जिसके वजह से डीजीपी का सैलरी 50,100 से लेकर 1 लाख 50 हजार तक हो सकती है।

डीजीपी की तैयारी कैसे‌ करें?

डीजीपी बनने के लिए आवेदन देने से पहले आपको कड़ी मेहनत से पढ़ाई करनी पड़ती है इसके अलावा आपको मालूम होना चाहिए कि कौन-कौन से विषय पढ़ना है उसके बाद ही आप अच्छी तरह से तैयारी करके परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते है परिक्षओ में आने वाले प्रश्न इसमे से ज्यादे तर आते है निचे दिया गया है।

  • सबसे पहले आपको जनरल नॉलेज (GK) के बारे में ज्यादा जानकारी होना है।
  • इसके अलावा आप current affairs और newspaper रोज पढ़ना जरूरी है ताकि आपको लेटेस्ट जानकारी मिल सकें।
  • आपको अपना Syllabus देखते रहना चाहिए।
  • पिछले साल परीक्षा हुए प्रश्न पत्र का पूरा सवाल को घर पे ही हल करने का प्रयास करें ताकि आपको अपने कांफिडेंस का पता चला सकें।
  • पूरे दिन का रोटिन बना ले ताकि सभी Syllabus पर अच्छे से तैयारी कर पाएं।

डीजीपी के मुख्य कार्य क्या है?

  • डीजीपी का प्रमुख कार्य होता है अपने क्षेत्र (राज्य) में कानून व्यवस्था को शांति पूण रहें जिसे राज्य में रहने वाले व्यक्तियों को किसी भी चीज को लेकर परेशानी न हो।
  • अपने क्षेत्र के राज्य को अपराध मुक्त करना जिससे राज्य में शांति बनाये रखने की जिम्मेदारी होती है।
  • डीजीपी के पास राज्य के पूरे पुलिस प्रशासन का कमान होता है।
  • डीजीपी अपने अंडर के पुलिस अधिकारी को निरीक्षण करता है।
  • प्रत्येक साल राज्य के कानून व्यवस्था के रिपोर्ट को राज्य सरकार के पास भेजने का कार्य डीजीपी का होता है।

अब तो आप समझ गए होंगे कि DGP क्या होता है, डीजीपी ऑफिसर कैसे बनें और डीजीपी का फुल फॉर्म क्या होता है (DGP Full Form in Hindi) आदि जानकारी के बारें में काफी अच्छी तरह से बताया गया है ताकि आप अच्छी तरह से समझ सकें।

उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे Whatsapp, Instagram, Twitter, Telegram, Facebook पर जरुर Share करे।

इसे भी पढ़े –

Leave a Comment