close button

भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में | Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

दोस्तो क्या आपको मालूम है कि भारत की जनसंख्या कितनी है 2022 में अगर नही तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप भारत के जनसंख्या के बारे में अच्छी जानकारी जान जाएंगे जैसे कि हम जानते है कि हमारे देश भारत की गिनती उन देशों के साथ कि जाती है जो क्षेत्रफल और जनसंख्या के दृष्टि में बड़े है।

आप ये भी जानते होंगे कि भारत क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया का सातवां सबसे बड़ा देश है तथा जनसंख्या के दृष्टि से दूसरा सबसे बड़ा देश है आपने टेलीविजन या न्यूजपेपर पर इसके बारे में सुने होंगे आपकी जानकारी के किये बता दे कि हमारे देश मे प्रत्येक 10 वर्ष पर जनसंख्या की गिनती होती है।

इंडिया में अनेको प्रकार के धर्म के लोग जैसे- हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई आदि निवास करते है जैसा कि साल 2011 के जनगणना के बाद देश में जनसंख्या काफी तेजी से बढ़ती चली जा रही है मीडिया के अनुमान के आधार पर साल 2027 तक जनसंख्या के मामले में भारत चीन को पीछे छोड़ देगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पूरी दुनिया की कुल आबादी 7.7 अरब से भी ज्यादा है और वर्ष 2011 के जनगणना के अनुसार भारत की कुल आबादी लगभग 125.03 करोड़ थी लेकिन बहुत लोगो की वर्तमान 2022 में भारत की जनसंख्या कितनी है जानने के लिए पोस्ट को अंत तो पढ़ें।

वर्तमान में भारत की जनसंख्या कितनी है

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

देश की जनसंख्या के गणना प्रत्येक 10 वर्ष में की जाती है पिछले बार साल देश की जनगणना साल 2011 में की गई थी उस समय भारत की कुल आबादी लगभग 121 करोड़ थी उस समय जनसंख्या के अनुसार 62.32 करोड़ पुरुष और बही 58.76 करोड़ महिलाएं थी और जनसंख्या के मुताबिक देश का सबसे ज्यादा आबादी राज्य उत्तरप्रदेश है।

सिक्कम सबसे कम आबादी वाला राज्य है 2022 में देश की जनसंख्या का सटीक जानकारी पाना बड़ा ही मुश्किल काम है क्योंकि जनसंख्या घटती बढ़ती रहती है अगर आपसे कोई पूछे कि वर्तमान में भारत की आबादी कितनी है आपका उत्तर अगर हो सकते है हमने पहले ही बताया था देश की आबादी एक समान नही रहती बढ़ती रहती है।

भारत की जनसँख्या कितनी है 2022 में?1,408,325,679
Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai?1,408,325,679

देश की आबादी जानने के लिए इंटेरनेट पर बहुत से वेबसाइट मौजूद है जिससे आप अनुमान लगा सकते है लेकिन United Nations के द्वारा संचालित एक प्रसिद्ध वेबसाइट Worldometer के गणना के मुताबिक वर्तमान में भारत की कुल आबादी लगभग 138 करोड़ है जो दुनिया के जनसंख्या का 17.7% है इसी के कारण भारत आबादी के दृष्टि में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है।

Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

इंडिया की आबादी प्रत्येक 10 वर्ष में 17.64% की दर से बढ़ रही है जो उससे पहले 10 वर्ष में 21.54% थी यानी इसका मतलब देश की जनसंख्या में पहले कम जनसंख्या का बढ़ोतरी है इसका पूरा श्रेय भारत सरकार को जाता है क्योंकि इंडियन गवर्मेंट कई सरकारी योजना चलाई।

जिससे लोगो के बीच जागरूकता हुआ और बढ़ोतरी में कमी हुई है लेकिन अभी भी भारत की सालाना जनसंख्या बृद्धि चीन से दुगुनी है यानी कहने का मतलब ये है कि आने वाले समय अगर ऐसा की चलता रहा तो भारत चीन को पीछे छोड़कर दुनिया का सबसे जनसंख्या वाला देश बन जायेगा।

आपको बता दे कि वर्तमान में चाइना की आबादी लगभग 143 करोड़ है जो काफी हद तक जनसंख्या कंट्रोल करने में काबू पा लिया है इसी तरह का प्रयास भारत को भी करनी चाहिए तभी जाकर भारत मे जनसंख्या का बृद्धि रुक पायेगा।

भारत के राज्यों की जनसंख्या की सूची

जैसे कि हमे पता है कि भारत मे 28 राज्य ओर 8 केंद्रशासित प्रदेश है 2011 के जनगणना के अनुसार उत्तरप्रदेश (यूपी) देश के सबसे आबादी वाला राज्य है और सबसे कम आबादी वाला राज्य सिक्किम है चलिये देश के सभी राज्यो का जनसँख्या जान लेते है इसके लिए नीचे दिया गया सूची देख सकते है।

क्रमांकराज्यों का नामजनसँख्या/आबादी
1.ऊतर प्रदेश19 करोड़ 98 लाख
2.महाराष्ट्र11 करोड़ 23 लाख
3.बिहार10 करोड़ 41 लाख
4.पश्चिम बंगाल9 करोड़ 13 लाख
5.मध्य प्रदेश7 करोड़ 26 लाख
6.तमिलनाडु7 करोड़ 21 लाख
7.राजस्थान6 करोड़ 85 लाख
8.कर्नाटक6 करोड़ 11 लाख
9.गुजरात6 करोड़ 4 लाख
10.आँध्रप्रदेश4 करोड़ 95 लाख
11.ओडिशा4 करोड़ 19 लाख
12.तेलंगाना3 करोड़ 50 लाख
13.केरल3 करोड़ 34 लाख
14.झारखण्ड3 करोड़ 30 लाख
15.असम3 करोड़ 12 लाख
16.पंजाब2 करोड़ 77 लाख
17.छत्तीसगढ़2 करोड़ 55 लाख
18.हरियाणा2 करोड़ 53 लाख
19.दिल्ली1 करोड़ 68 लाख
20.जम्मू & कश्मीर1 करोड़ 22 लाख
21.हिमाचल प्रदेश68 लाख 65 हजार
22.त्रिपुरा36 लाख 74 हजार
23.मेघालय29 लाख 67 हजार
24.मणिपुर25 लाख 70 हजार
25.नागालैंड19 लाख 78 हजार
26.गोवा14 लाख 59 हजार
27.अरुणाचल प्रदेश13 लाख 84 हजार
28.पुडुचेरी12 लाख 48 हजार
29.मिजोरम10 लाख 97 हजार
30.चंडीगढ़10 लाख 55 हजार
31.सिक्किम6 लाख 10 हजार
32.दादर & नगर हवेली और दमन5 लाख 86 हजार
33.अंडमान & निकोबार3 लाख 80 हजार
34.लदाख2 लाख 74 हजार
35.लक्ष्यद्वीप65 हजार

भारत की जनसँख्या अलग-अलग धर्मो के अनुसार

धर्मो का नामजनसंख्या प्रतिशत में
हिन्दू 79.8%
सिख1.72 %
बौद्ध0.7 %
इस्लाम14.2 %
जैन0.37 %
ईसाई2.3 %
अन्य धर्म को अपनाने वाले0.9 %

भारत की जनसंख्या बढ़ने से नुकसान क्या है

अगर आपसे कोई पूछे कि दुनिया का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश कौन सा है तो आप बिना कुछ सोचे चाइना का नाम बोल देंगे लेकिन आपसे यही सवाल 3 से 4 साल बाद पूछेंगे तो आप चाइना का नाम नही ले पाएंगे क्योंकि चाइना को पछाड़ कर हमारा भारत देश उसके स्थान पर पहुँच जाएगा और ये अच्छी बात नही है।

आपने बढ़ती जनसंख्या के बारे से फायदे तो जानते ही होंगे लेकिन अब नुकसान भी आपको जान लेना बहुत जरूरी है दोस्तो आज भले ही सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश चाइना हो लेकिन अगर हम एक नजर पॉपुलेशन रेट की ओर नजर डाले तो हमारे देश भारत में सबसे तेजी से जनसंख्या बढ़ रही है ओर ये खुशी वाली बात नही है।

क्योंकि जब आबादी ज्यादे बढ़ेगी तो बेरोजगारी बढ़ती है, वातावरण में बदलाव होता है इससे हमारे जलवायु में काफी फर्क पड़ता है जिससे पेड़, पौधे, जीव-जंतु और काफी सारे जीव को परेशानी का सामना करना पड़ता है ज्यादेतर समस्याओं का कारण ज्यादे जनसंख्या को ही बताया जाता है।

भारत की जनसंख्या को नियंत्रण करने में किया गया प्रयास

भारत की जनसंख्या को नियंत्रण करने के लिए दो प्रयास किये गए थे जिसमे पहला One Child Policy और दूसरा Incentives For Sterilisation जो निष्फल रहा चलिये इसके बारे में विस्तार से जानते है

One Child Policy

चाइना द्वारा चलाई गई एक पॉलिसी है जिसका नाम One Child Policy है ऐसे में बहुत से लोग जानते है कि ये पॉलिसी चाइना में काफी हद तक अच्छी साबित हुई है लेकिन हम आपको बता दे कि चाइना की ये पॉलिसी पूरी तरह से फेल हो गई थी।

इसमे चाइना के सरकार द्वारा आदेश था कि प्रत्येक व्यक्ति एक ही बच्चा पैदा कर सकते है इसमें हर आदमी को लड़का चाहिए था वहां के लोग भी हमारे देश की तरह सोचते है कि घर चलाने के लिए एक लड़का होना जरूरी है।

इस पॉलिसी के लागू होने के तीस साल बाद इस पॉलिसी को खत्म कर दिया क्योंकि उस समय चाइना का सेक्स इसु बहुत ही गिर गया था जहां लड़को के मुकाबले लड़कियों की संख्या कम थे और अभी भी ये आंकड़ा सही नही हुआ है इसलिए भारत मे One Child Policy सही उपाय नही है।

Incentives For Sterilisation

काफी लोगो कहना है कि नसबंदी से जनसंख्या में रुकावट आ सकती है लेकिन आपको हम बता दे कि इंदिरा गांधी के समय मे संजय गांधी ने Incentives For Sterilisation का प्रोग्राम लांच किया था जिसमे लगभग 1 करोड़ लोगों को जबरजस्ती Sterilized किया था लेकिन उससे भी कुछ खास फायदा नही हुआ और जनसंख्या में कोई रुकावट नही हुई 

भारत की जनसंख्या कैसे नियंत्रण किया जाए 

अगर देश मे जनसंख्या पर काबू पाना है तो लोगो को पढ़ा-लिखा होना और जागरूक होना बहुत जरूरी है इसमे प्रत्येक महिला के अंदर जन्म देने का दर होता है यानी कि हर एक स्त्री कितना बच्चों को जन्म दे सकती है अगर अगर अंतराल 2 है तो प्रस्थिति समान है क्योंकि इतने लोगो की मृत्यु भी हो जाती है।

इसलिए जब जनसंख्या बढ़ेगी नही तो घटेगी भी नही इससे स्थिति नयत्रंण रहेगा और यही सबसे अच्छा तरीका है देश मे जनसंख्या को कम करने का अब आपके दिमाग मे सवाल होगा कि इससे पढ़ाई से क्या मतलब है आपको बता दे कि इसका सही मतलब पढ़ाई से ही है क्योंकि जिस जगह पर महिलाएं ज्यादे पढ़ी लिखी होती है वहां का फर्टिलिटी रेट काफी ज्यादा कम है।

जिस कारण वहां की जनसंख्या भी समान होती है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण केरल है जहाँ देश भी सबसे ज्यादा लोगो पढ़े लिखे होते है इसलिए वहां फर्टिलिटी रेट भी कम जिससे जनसंख्या में समान है।

वही अगर हैं मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और राजस्थान जैसी जगहों पर आबादी इसलिए ज्यादा क्योंकि यहां की महिलाएं पढ़ी-लिखी नही है इससे उनको ये नही पता है कि क्या सही और क्या गलत है क्योंकि जब महिला पढ़ी लिखी होती है 

तो उसको पता होता है कि उसके जितने भी बच्चे हो उसे अच्छे से पाल सके ना कि किसी दूसरे पर निर्भर हो। 

वैसे ही जैसे पिछड़े इलाकों के गांवों में होता है जिसकी पालन पोषण सही ढंग से नही होती है और वही बच्चे आगे चलकर अपराधी लाइन ओर से चले जाते है अब आप जान गए होंगे कि देश की जनसंख्या पर नियंत्रण पाना है तो मां और बेटी दोनों को अच्छी शिक्षा देना बहुत जरूरी है।

FAQ

Q : 2021 में भारत की जनसँख्या कितनी है?

Ans : देश मे बढ़ती जनंसख्या से अनुमान लगाया जा रहा है कि वर्तमान में भारत जी जनंसख्या लगभग 138 करोड़ के आस-पास है।

Q : 1951 में भारत की जनसंख्या कितनी थी?

Ans : 1951 में हुई जनगणना के अनुसार भारत मे लगभग 38 करोड़ जनंसख्या थी।

Q : 2011 में भारत मे जनंसख्या कितनी थी?

Ans : साल 2011 में हुए जनगणना से भारत मे लगभग 125 करोड़ आबादी थी। 

Q : भारत की जनसंख्या कैसे रोका जाए?

Ans : सभी प्रकार के कार्यो को करने का बाद भारत मे जनंसख्या पर काबू पाना है तो देश में प्रत्येक महिलाओं को 2 बच्चे जन्म देनी चाहिए अगर अगर अंतराल 2 है तो प्रस्थिति समान है क्योंकि इतने लोगो की मृत्यु भी हो जाती है इसलिए जब जनसंख्या बढ़ेगी नही तो घटेगी भी नही इससे स्थिति नयत्रंण रहेगा।

अब तो आप समझ गए होंगे कि 2022 में भारत की जनसंख्या कितनी है इसके बारें में काफी अच्छी तरह से बताया गया है ताकि आप अच्छी तरह से समझ सकें।

उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करे।

इसे भी पढ़े –

Leave a Comment