close button

Apple किस देश की कंपनी है तथा इसका मालिक कौन है पूरी जानकारी

दोस्तो आज के इस आर्टीकल में जानने वाले है कि Apple किस देश की कंपनी है तथा इसका मालिक कौन है फेसबुक, इंस्ट्राग्राम ओर फेसबुक जैसी बड़ी कंपनियों को चलाने वाले मार्क जकरवर्ग के बारे में आप जानते ही होंगे इन्ही का गुरु है

एप्पल कंपनी के मालिक है ये दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में गिने जाते है अगर आप Iphone रखते होंगे या एप्पल का फोन के बारे में जानते है तो आपको पता ही होगा कि ये कंपनी कितनी बड़ी होगी।

दुनिया मे मोबाइल फोन में आईफोन एक ऐसा ब्रांड है इसका जब भी कोई नया फोन मार्केट में लंच होता हैं तो लेने के लिए लोगो की भीड़ उमड़ उठती है हम में से कोई लोग आईफोन शौक़ के लिए रखते है तो कई लोग अपने पर्सनल काम के लिए रखते है लेकिन एक चीज सभी के अंदर देखने को मिलता है। 

आईफोन के प्रति विश्वास ये सब के बीच देखने को मिला है क्या अपने कभी सोचा है कि Apple कंपनी किस देश की है ओर इसका मालिक कौन है इस कंपनी की पूरी कहानी अगर आप नही जानते तो इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़े क्योंकि इस पोस्ट में हम एप्पल कंपनी के बारे में सभी जानकरी देने वाले हैं तो चलिए शुरू करते है।

Apple कंपनी का मालिक कौन है

Apple Company Ka Malik Koun Hai
Apple कंपनी किस देश की है

चलिये पहले ये जान लेते है कि आखिर एप्पल कंपनी का मालिक कौन है तो हम आपकी जानकरी के लिए बता दे कि अगर आप सोशल मीडिया पर है जैसे, फेसबुक, इंस्ट्राग्राम, फेसबुक ओर व्हाट्सएप्प जैसे ओर भी बड़ी कंपनियों का मालिक मार्क जकरवर्ग के बारे में आप तो जानते ही होंगे हम आपको बता दे कि मालिक मार्क के गुरु स्टीव जॉब्स ही एप्पल कंपनी के मालिक है।

आपको बता दे कि एप्पल कंपनी की नींव 1 अप्रेल 1976 को Steve Jobs, Steve Wozniak ओर Ronald Wayne ने मिलकर रखी थी यह सच है कि स्टीव जॉब्स भी जीवित नही है उनकी मृतु 5 अक्टूबर 1911 में हुई थी स्टीव जॉब्स के मौत के बाद एप्पल कंपनी का मालिक टीम कूक को बनाया गया।

 इस समय वर्तमान में टीम कूक ही एप्पल कंपनी का मालिक और इस कंपनी का CEO है स्टीव जॉब्स ने इस कंपनी को उचाईयो तक ले जाने में उनकी काफी मेहनत लगी थी भले ही वो इस दुनिया मे नही है पर उनकी बनाई कंपनी बुलंदियों पर है।

Apple किस देश की कंपनी है

अब समझ लेते है कि एप्पल किस देश की कंपनी है तो हम बता दे कि एप्पल एक अमेरिकन कंपनी है जिसे अमेरिका से ही ऑपरेट किया जाता है इसका मेन ब्रांच Cupertino ओर California में स्थित है एप्पल कंपनी को भले ही शुरुआत में बहुत सारे समस्याओ को सामना करना पड़ा लेकिन यही कंपनी अब ऊचाईयों पर है।

एप्पल कंपनी की कहानी

Apple Company Ka Malik Koun Hai
एप्पल कंपनी की कहानी
  1. दुनिया के बीच लाने वाले एप्पल कंपनी स्टीव जॉब्स ही है इनका जन्म 24 फरवरी 1955 में स्टीव जॉब्स का जन्म कैलिफोर्निया के सेनफ्रांसिस्को शहर में हुआ था आपको जानकर हैरानी होगी कि स्टीव की माँ बिना शादी के माँ बानी थी इसलिए इनका जन्म होने के बाद किसी ओर को गोद देने का फैसला लिया गया ओर इन्हें पाउल और कालरा ने गोद लिया स्टीव की माँ चाहती थी कि जो भी लोग स्टीव को गोद ले वे पढ़े-लिखे हो
  2. जबकि कालरा एक एकन्टेन्ट ओर पैलिक एक मकैनिक थे दोने ने अपना कॉलेज की पढ़ाई पूरी नही ही थे फिर भी उन्होंने उसकी माँ से वादा किया की स्टीव को किसी भी चीज का कमी नही होंने देंगे स्टीव 1961 में अपने नए परिवार के साथ कैलिफोर्निया के माउंटेंनव्यू रहने आ गए स्टीव के पिता ने अपने घर चलाने के लिए एक गैरेज खोला यही से स्टीव की पढ़ाई शुरू किया स्टीव जॉब्स शुरुआत से बहुत ही तेज थे उनका मन ज्यादे इलेक्टिक चीजो में लगता था
  3. इनकी तेज दिमाग के चलते स्कूल टीचर इनको ओर भी बड़ी क्लास में डालना चाहते थे लेकिन उनके माता पिता चाहते थे कि उनकी पढ़ाई शुरू से ही 13 साल की उम्र में उनकी दोस्ती स्टीव भोजनियक से हुई इनका भी दिमाग स्टीव जॉब्स के जैसे ही तेज था और इलेक्ट्रॉनिक चीजो में ज्यादा मन लगता था स्कूल के पढ़ाई के बाद स्टीव ने कॉलेज में नामांकन करवाया पर कॉलेज का फीस ज्यादा था
  4. उसके माता पिता भी मुस्कलिक से घर चलते थे स्टीव ने कॉलेज की पढ़ाई छोड़ दिया इसके बाद उन्होंने कैलीग्राफी की क्लास जॉइन किया जिसके कारण हम अपने कंप्यूटर में इतने सारे फॉन्ट इस्तमाल कर पाते है उस समय इसके पास ज्यादा पैसे नही होते थे उसे समय ये अपने दोस्त के घर जमीन पर सोया करते थे ओर ये अपना खर्चा चलाने के लिए कोकोकोला के बोतल बेचना शुरु कर दिए ओर वे 7 मील पैदल चलकर राधा-कृष्ण मंदिर जातें थे क्योंकि फ्री का खाना मिलता था
  5. स्टीव जॉब्स ओर उनके दोस्त स्टीव भुजनियाक ने एक कंप्यूटर बनाने का फैसला किया उन्होंने यह कम्प्यूटर बनाने कार्य स्टीव के गैरेज में ही किया जिसका नाम Apple रखा उन्होंने कुछ सामान बेचकर यह कम्प्यूटर बनाया था यह कम्प्यूटर छोटा अच्छा और ज्यादा फँसन था इस कम्प्यूटर को काफी पसंद किया गया जिसे इन्होंने लाखो डॉलर कमाये इनकी कंपनी अच्छा चलने लगी लेकिन जब कंपनी का घाटा हुआ तो इसका इल्जाम स्टीव जॉब्स पर लगाया गया जिसकी वजह से उनको 17 सितंबर 1985 को इस कंपनी से निकाल दिया गया
  6. इसके बाद स्टीव जॉब्स काफी निराश हो गए लेकिन इन्होंने हार नही मानी इन्होंने एक ओर कंपनी की स्थापना की जिसका नाम नेस्ट रखा लेकिन इस कंपनी ने ज्यादा नाम नही कमाया फिर इन्होंने इस कंपनी को सॉफ्टवेयर कंपनी में बदल दिया फिर इनकी जिन्दगी बदल गयी इन्होंने बहुत पैसा कमाया फिर इन्होंने 10 मिलियन डॉलर में एक ग्राफिक कंपनी ही खरीद लिया जिसका नाम द पिक्सल रखा था
  7. लेकिन वही दूसरी ओर एप्पल कंपनी घाटे में चल रही थी फिर एप्पल कंपनी ने 477 मिलियन डॉलर में नेक्स्ट कंपनी को खरीद लिया ओर फिर जिस कंपनी से स्टीव जॉब्स को निकाला गया था उसी एप्पल कंपनी में स्टीव जॉब्स CEO बन गए इसके बाद एप्पल कंपनी भी धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगी और वही एप्पल कंपनी दुनिया के सबसे बड़ी कंपनियों में गिनी जाती है

अंतिम शब्द –

अब तो आप जान गए होंगे कि Apple किस देश की कंपनी है तथा इसका मालिक कौन है एप्पल कंपनी की कहानी आदि जानकरी इस पोस्ट में हमने बड़ी ही सरल शब्दों जानकरी दिए ताकि आप अच्छी तरह समझ सकें

अगर किसी भी प्रकार के समझने में कोई दिक्कत न हो मित्रो अगर आपको किसी भी प्रकार की समस्याएं या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर दूंगा।

इसे भी पढ़ें –

Leave a Comment