close button

अमूल कंपनी का मालिक कौन है? तथा यह कंपनी कहाँ की है

आज आप जानेंगे कि अमूल कंपनी का मालिक कौन है? तथा यह कंपनी कहाँ की है पूरे दुनिया मे दूध एक ऐसी चीज है जिसमे संपूर्ण आहार होता है जिसे बच्चा से लेकर बुजर्ग व्यक्ति को भी पिलाया जा सकता है अगर आप दूध के गुड़ के बारे में अच्छे से समझे तो ये अमृत से कम नही होता है लेकिन आज दूध के बारे में नही बल्कि दूध के सबसे बड़ी मेन्युफेक्चरिंग कंपनी अमूल के बारे में जानने वाले है।

भारत मे सायद ही कोई व्यक्ति होगा जो अमूल कंपनी के बारे में जनता होगा जिसका प्रोडक्ट दूध, दही, लस्सी आदि बाजार में जयदेतर देखने में मिलता है आज उसी अमूल कंपनी के बारे में जानेंगे कि अमूल कंपनी का मालिक कौन है? तथा यह कंपनी किस देश की है? इसके बारे में पूरी विस्तार जानने वाले है वर्तमान समय में अगर आप शहर में रहते है या गांव में आपके बाजार में जहां दूध, दही आदि समान मिलता है।

वहाँ आपको अमूल कंपनी का प्रोडक्ट जरूर देखने को मिलता है अमूल कंपनी का ब्रांच भारत के अलग अलग क्षेत्र में स्थित है जिसके वजह से पूरे देश मे इस कंपनी आज पूरे भारत मे नेटवर्क फैला हुआ अमूल एक बहुत बड़ी कंपनी है जो आज के समय में भारत के हर एक स्थान पर इसका प्रोडक्ट देखने को मिल जाता है।

ग्राहकों के बीच इसकी काफी चर्चा हैं क्योंकि अमूल कंपनी अपने प्रोडक्ट को काफी अच्छे तरह से बनाए जाते है ताकि कस्टमर को अच्छा लगे और हमारे प्रोडक्ट से जुड़े रहें अमूल का प्रोडक्ट तो सभी लोग यूज किये होंगे लेकिन क्या आपको मालूम है कि अमूल कंपनी का मालिक कौन है? तथा यह कंपनी कहाँ की है?अगर आप किसी प्रोडक्ट को जयदेतर इस्तेमाल करते है तो आपको उसके बारे में अच्छी तरह से मालूम होनी चाहिए।

अमूल कंपनी का मालिक कौन है?

Amul company ka malik koun hai

भारत देश को दूध उत्पादन बनने में और किसानों की गंभीर दसा को हमेसा के लिए खत्म करने के लिए वर्गीज कुरियन जी ने डेयरी प्रोडक्ट अमूल ब्रैंड का शुरुआत किया था अमूल कंपनी का मालिक वर्गीज कुरियन जी है जिन्हें भारत का मिल्क मैन भी कहाँ जाता है वर्गीस कुरियन एक मेकेनिकल इंजीनियर है।

उसके बावजूद भी दूध उद्योग को देश मे उत्पादन किय यह मद्रास के लोयोला कॉलेज से भौंतिकी से ग्रेजुएशन किया, मद्रास से 85 मेकेनिकल और America की Michigan University से Mechanical Engineering में Master of science की उपाधि लेने के बाद भी डॉ कुरियन ने अपनी किस्मत को दूध उद्योगों में आजमाया अपने मेहनत और विश्वास से इस क्षेत्र में महारात हासिल किया।

अमूल कंपनी की शुरुआत 4946 में गुजरात के आनंद शहर में हुई थी यह कंपनी शुरू करने के पीछे एक उद्देश्य था कि देश के किसान खुद से दूध उत्पाद करके खुद से घर, बाजार जाकर बेचते थे यही दसा को सुधारने के लिए दूध उद्योग लाया गया आपको बता दे कि 2044 – 2045 के बीच अमूल कंपनी की संपति $3.4 बिलियन डॉलर थी और वर्तमान में माना जाता है कि अमूल की रोज की आमदनी 90 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

अमूल कहाँ की कंपनी है?

जैसा कि हमे मालूम है कि अमूल भारत का एक बड़ी मिल्क कंपनी है जिसका प्रोडक्ट केवल भारत में ही नही बल्कि 60 अलग अलग देशों में एक्सपोर्ट किया जाता है अमूल गुजरात के आणंद मेँ स्थित है जो पूरे दुनिया मे भारत का सर्वाधिक दूध उत्पादक देश बना दिया है अमूल कंपनी की स्थापना 1946 में एक डेयरी यानि दुग्ध उत्पाद के शकाहारी आन्दोलन के रूप में हुई थी।

जिसे पशु पालन लोगो ने मिलकर एक बड़ा ब्रांड बना दिया है अमूल कंपनी का मुख्यालय गुजरात के एक डेयरी यानि दुग्ध उत्पाद के सहकारी आन्दोलन के रूप में हुई थी। जो जल्द ही घर घर मे स्थापित एक ब्राण्ड बन गया अमूल का हेडक्वाटर गुजरात राज्य के आणंद जिले में स्थित है।

अमूल कंपनी कैसे काम करती है?

आपको बता दे कि अमूल कंपनी में लगभग 32 लाख लोग जुड़े है जिससे प्रतिदिन 70 लाख लीटर दूध 4400 गांव के लोग एकत्रित करते है अमूल सभी प्रोसेस को तीन तरीका से विभजित किया जिसमें पहले दूध को पहले गांव में क्वालिटी चेक करने के बाद जिला में भेज दिया जाता था।

फिर वहां राज्य स्तर पर भेज दिया जाता है जहां पर इसकी पैकिंग किया जाता है फिर वहां से शहर और गांव के बाजार में भेजें जाते है कुछ इसी तरह प्रकिया के बाद दूध लोगो के घर घर पहुचते थे।

Amul Products 

अगर आपको अमूल कंपनी से लगाव है और आप जानना चाहते है अमूल कंपनी कौन कौन से प्रोडक्ट बनाती है तो नीचे देख सकते है अमूल के सभी प्रोडक्ट के बारे में बताया गया है।

  • दूध
  • दूध का पाउडर
  • मक्खन
  • घी
  • चीज़
  • पनीर
  •  दही
  • चॉकलेट
  • श्रीखण्ड
  • आइसक्रीम
  • गुलाब जामुन
  • न्यूट्रामूल आदि

अमूल की सफलता की कहानी

अमूल कंपनी की शुरुआत गुजरात के छोटे छोटे गांवों गरीब दूध उत्पादको हक दिलवाने के लिए किया गया था यह बात है 1946 कि जब भारत आजाद नही था तब दूध किसानों को मजबूरन दलालों को देना पड़ता था जो किसानों का मेहनत का रकम में से कुछ रकम खुद रख लेते थे लेकिन इसके अलावा भी किसानों के पास कोई उपाय भी नही था।

किसानों को पूरा अधिकार दिलवाने के लिए त्रिभुवनदास ने सरदार सरदार वल्लभ भाई पटेल और मोरारजी देसाई के साथ अमूल कंपनी का शुरुआत किया अमूल कंपनी का Registration 14 दिसंबर 1946 को एक Corporative कंपनी (जिसे बहुत सारे लोग मिलकर बनाये हो) के आधार पर किया गया कुछ समय बाद त्रिभुवनदास जी के कहने पर वर्गीस कुरियन ने इस कंपनी को जॉइन कर लिया।

कुरियन जी ने America की Michigan University से Mechanical Engineering में Master of science डिग्री हासिल की है इसके बावजूद भी उन्हीने देश के किसानों के बारे में सोचा कंपनी को ग्रहण किया उस समय Polson Dairy पूरे देश मे कब्जा फैलाया हुआ था।

उसके बाद किसानों को समझाया गया कि वो अपना दूध Polson Dairy को न देकर दूध हमे दे जिससे आपको अच्छी रकम मिल सके फिर धीरे धीरे गरीब किसानों को अमूल कंपनी की यह तरकीब समझ आने लगा और इसी के साथ बहुत सारे दूध उत्पादक किसान अमूल कंपनी से जुड़ने लगे फिर क्या था धीरे धीरे अमूल कंपनी का नेटवर्क बढ़ने लगा और उसका प्रोडक्ट पूरे देश मे सप्लाई होने लगा।

वर्गीस कुरियन ने कम से कम लागत में किसानों को ज्यादा ज्यादा फायदा हो सके ऐसा मोडल तैयार किया दूध की क्वालिटी और किसानो की सुविधा के लिए गांव-गांव में यूनियन बनाया गया और प्लांट की स्थापना भी की गई जिसकी प्रकिया कुछ इस प्रकार थी पहले गांव की क्वालिटी चेक करने के बाद जिलों में भेज दिया जाता था फिर वहां राज्य स्तर पर भेज दिया जाता जहां पर इसकी पैकिंग किया जाता है कुछ इसी तरह प्रकिया के बाद दूध लोगो के घर घर पहुचते थे।

वर्गी कुरियन ने दिन प्रतिदिन सफलता की सीढ़ियां चढ़ने लगे और वर्तमान में अमूल केवल दूध ही नही बल्कि घी, आईस क्रीम, मिल्क पाउडर आदि प्रोडक्ट बनाने लगी आज के समय मे अमूल कंपनी से लगभग 32 लाख लोग जुड़े है जो कि रोज दूध की सप्लाई करते है इसी चीज के लिए कुरियन को Padam Vibhishan, Krishi Ratna, Padam Sari जैसी सम्मान मिले है आपको बता दे कि वर्गी कुरियन अब इस दुनिया मे नही है उनकी मृत्यु 202 हुआ था।

अब तो आप समझ गए होंगे कि अमूल कंपनी का मालिक कौन है? तथा यह कंपनी कहाँ की है इसके बारें में काफी अच्छी तरह से बताया गया है ताकि आप अच्छी तरह से समझ सकें।

उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा अगर आपको इसके बारे में समझने में कोई दिक्कत हो या कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हम आपके प्रश्न का उत्तर जरूर देंगे।

अगर ये पोस्ट आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ आगे Whatsapp, Instagram, Twitter, Telegram, Facebook पर जरुर Share करे।

इसे भी पढ़े –

Leave a Comment